जमा योजनाएं – आवर्ती जमा

आवर्ति जमा योजना

खाता कौन खोल सकता है

कोई भी व्‍यक्‍ति जो कि स्‍वस्‍थ दिमाग का हो और दिवालिया न हो, अकेले या संयुक्‍त रूप से, खाता खोल सकता है।

अवयस्‍क द्वारा यह खाता खोला जा सकता है एवं इसका परिचालन नैसर्गिक अभि‍भावक(natural guardian) अथवा अवयस्‍क द्वारा स्वयं किया जा सकता है, यदि उसकी आयु 10 वर्ष से अधिक है। खाता संयुक्‍त रूप से भी खोला जा सकता है।

व्‍यस्‍क होने के पश्‍चात, खाताधारी को अपने खाते में बकाया शेष की पुष्टि करनी चाहिए एवं यदि खाते का परिचालन नैसर्गिक अभिभावक(natural guardian) द्वारा किया जा रहा है तो व्‍यस्‍क हुए खाताधारी के नए नमूना हस्‍ताक्षर लिए जाने चाहिए एवं नैसर्गिक अभिभावक (natural guardian) से इन हस्‍ताक्षरों का सत्‍यापन करा कर समस्‍त परिचालन उद्देश्‍यों के लिए बैंक के रिकार्ड में रखा जाना चाहिए।

इस प्रकार के खाते व्‍यक्तिगत (अकेले अथवा संयुक्‍त रूप से ) ,फर्म,कंपनी,क्‍लब,संघ,संस्था, सरकारी या अर्द्धसरकारी निकायों,सहकारी संस्‍थाओं ,धार्मिक एवं धर्मार्थ संस्‍थाओं आदि द्वारा खोले जा सकते हैं।

खाते में निम्‍नतम जमा राशि – निम्‍नतम रू. 10/-

खाते में अधिकतम जमा राशि – अधिकतम कितनी भी राशि प्रतिमाह

निम्‍नतम एवं अधिकतम अवधि

निम्‍नतम अवधि – निम्‍नतम अवधि छह माह

अधिकतम अवधि – अधिकतम 10 वर्ष

ब्‍याज दर

संबंधित अवधि के लिए सावधि जमा पर लागू ब्‍याज दर

ब्‍याज की आवधिकता

ब्‍याज की गणना तिमाही आधार पर चक्रवर्ती ब्‍याज से की जाएगी परंतु ब्‍याज का भुगतान जमा की परिपक्‍वता पर मूल राशि के साथ किया जाएगा।