वरिष्‍ठ नागरिकों के लिए सुखमनी योजना- प्रतिगामी बंधक संकल्‍पना


उद्देश्‍य

यह योजना वरिष्‍ठ नागरिकों को अपनी जीवन शैली को बनाए रखने और उन्‍हें बिना किसी पर निर्भर हुए बिना अपने मासिक खर्चों में मदद करने के लिए बनाई गई है। यह एक सामाजिक सुरक्षा योजना है जो वरिष्‍ठ नागरिकों को सेवानिवृति के बाद लाभ देने  के लिए बनाई गई है। ॠण राशि निम्‍नलिखित उद्देश्‍यों के लिए प्रयोग की जा सकती है:

  • वास्‍तविक आवश्‍यकताओं के लिए
  • आवासीय संपत्ति के उन्‍नयन,नवीकरण और विस्‍तार के लिए
  • आवासीय संपत्ति के सुधार,रखरखाव / बीमा आदि के प्रयोग के लिए
  • परिवार के पालन के लिए मैडिकल और आपातकालीन खर्चों के लिए
  • पैंशन/ अन्‍य आय को बढ़ाने के लिए
  • मौजूदा बंधक आवासीय संपत्ति पर लिए गए वर्तमान ॠण की चुकौती के लिए

पात्रता

उधारकर्ता को निम्‍नलिखित मानदंड पूरे करने चाहिए:-

  • 60 साल से अधिक के भारत के वरिष्‍ठ नागरिक
  • आवासीय संपत्ति उसका/ उसके एकल नाम पर होनी चाहिए या पति/पत्‍नी के नाम संयुक्‍त रूप से। यदि किसी मामले में संपत्ति एकल नाम पर हो तो वह अपने पति/पत्‍नी,जो सह-उधारकर्ता होंगे, के पक्ष में 'वसीयत' देंगे।
  • विवाहित जोड़े, वित्‍तीय सहायता हेतु सह-उधारकर्ता के रूप में पात्र होंगे बशर्ते संपत्ति के मालिक पति/पत्‍नी में से किसी एक की आयु 55 वर्ष हो और अन्‍य वैद्य पति/पत्‍नी की आयु 60 वर्ष या उससे अधिक हो ।
  • आवासीय संपत्ति स्‍वयं कब्‍जा किए हुए/ स्‍वयं अर्जित हो तथा बिना किसी भार रहित और स्‍पष्‍ट शीर्षक वाली होनी चाहिए।
  • उधारकर्ता द्वारा आवासीय संपत्ति को एक स्‍थायी प्राईमरी आवास के रुप में प्रयोग करना चाहिए।
  • आवासीय संपत्ति की अवशिष्ट अवधि ॠण की अवधि से अधिक होनी चाहिए ।

ॠण/मार्जिन की मात्रा

अधिकतम देय राशि- 1 करोड़ रु.

आवासीय संपत्ति पर नीचे दिए गए मार्जिन रखने के बाद वर्तमान बाजार मूल्‍य/ वसूली योग्‍य मूल्‍य में से जो भी कम हो , के आधार पर ॠण राशि तय होगी:

 अधिकतम ॠण मूल्‍य अनुपात और उसके बाद व्‍युत्‍पन्‍न मार्जिन निम्‍नानुसार है:

आयु वर्ग

अधिकतम ॠण

(रू. 100 लाख की अधिकतम सीमा के अधीन)

मार्जिन

60 से 70 तक

अचल संपत्ति के मूल्‍य का 60%

40%

70 से अधिक  75 तक

अचल संपत्ति के मूल्‍य का 50%

50%

75 से अधिक  80 तक

अचल संपत्ति के मूल्‍य का 45%

55%

80 से अधिक 

अचल संपत्ति के मूल्‍य का 40%

60%

 

ब्‍याज-दर

ब्‍याज-दर हेतु कृपया यह क्लिक करें

 

प्रक्रिया शुल्‍क

प्रोसेसिंग फीस के लिए यहां क्लिक करें 

सुरक्षा

आवासीय संपत्ति को बैंक के पक्ष में साम्यिक/पंजीकृत बंधक /असाईमैंट के माध्‍यम से ॠण को सुरक्षित किया जाएगा।

 

ॠण की अवधि

अधिकतम 15 वर्ष

 

भुगतान

  • उधारकर्ता को बिना किसी पूर्वभुगतान प्रभार के ॠण भुगतान का विकल्‍प होगा।
  • यदि किसी अन्‍य वित्‍तीय संस्‍था/ बैंक द्वारा ॠण का अधिग्रहण किया जाता है तो ली गई राशि का 2% प्रभार लगाया जाएगा। 

गारंटी

पति/पत्‍नी की व्‍यक्तिगत गारंटी ,यदि वह संयुक्‍त या सह-उधारकर्ता नहीं है।