संपत्ति के एवज़ में ऋण (एलएपी)




पात्रता

i) व्‍यक्तिगत,जो आयकर निर्धारिती हों।
ii) आयु सीमा- न्‍यूनतम 21 साल और अधिकतम 60 साल ।

 

 

ॠण की मात्रा

न्‍यूनतम रू. 1.00लाख और अधिकतम रू . 500.00 लाख
वित्त के लिए अधिकतम बाहरी सीमा होगी :
i) वेतनभोगी व्यक्तियों के लिए: शुद्ध मासिक आय का अधिकतम 48 गुणा ( टीडीएस सहित सभी कटौतियों का नेट )
ii)अन्‍यों के लिए : शुद्ध वार्षिक आय का अधिकतम 4 गुणा (देय आयकर घटाकर नवीनतम आयकर विवरणी के अनुसार आय)

पति-पत्‍नी/बड़े बेटे की आय को शामिल किया जायेगा यदि वे ॠण में सहउधारकर्ता हो।

मार्जिन

ऋण राशि और बाहरी सीमा के अधीन संपत्ति के वसूली योग्य मूल्य के 50% तक वित्‍त (अर्थात यदि उधारकर्ताओं ऋण राशि के 200% @ प्रतिभूति की पेशकश करता है)।

ब्‍याज-दर

ब्‍याज-दर हेतु कृपया यहां क्लिक करें

ॠण का भुगतान

अधिकतम 12 वर्ष -ऋणी की भुगतान क्षमता के आधार पर बशर्तें सभी कटौतियों के बाद 40% टेक होम वेतन / आय हो । भुगतान इस ढ़़ंग से निर्धारित कि‍या जाएगा ताकि ऋण उधारकर्ता के 70 साल की उम्र तक समायोजित हो जाए। यदि किसी मामले में छोटी उम्र के सह उधारकर्ता, जि‍सका आईआईआर (आय अनुपात के लिए किस्त), में 50% या उससे अधिक का योगदान होने का प्रस्ताव हो तो पात्रता मानदंड के अनुसार छोटी उम्र के सह उधारकर्ता की उम्र पर विचार किया जा सकता है।

प्रक्रिया शुल्‍क

प्रोसेसिंग फीस के लिए यहां क्लिक करें 

 

दस्‍तावेजी प्रभार

संपत्ति पर कानूनी राय, सूचकांक, मूल्यांकन, बंधक शुल्क और स्टांप पेपर आदि के शुल्क के संबंध में वास्तविक व्यय शामिल हैं।

प्रतिभूति

उपरोक्‍त बिंदु 2 के अनुसार ऋण राशि और बाहरी सीमा के आधार पर बैंक को स्वीकार्य अचल संपत्ति का बंधक

गारंटी

पति-पत्‍नी/बड़े बेटे/ तीसरे पक्ष की गारंटी
(यदि पति-पत्‍नी/बड़ा बेटा ॠण में सहउधारकर्ता हो तो गारंटी नहीं चाहिए।)

पूर्वभुगतान

यदि उधारकर्ता अपने वैध स्रोतों से या वास्‍तविक बिक्री से ॠण के भुगतान/ समायोजन का चयन करता है तो कोई पूर्वभुगतान दण्ड प्रभार नहीं लगेगा। जबकि अन्य बैंक/वित्तीय संस्था/एनबीएफसी द्वारा ॠण के टेकओवर के मामले में, पूर्वभुगतान करने पर बकाया ॠण राशि का @1% अतिरिक्‍त प्रभार लगेगा।