सावधि जमा

1.   खाता कौन खोल सकता है
   

कोई भी व्‍यक्‍ति जो कि स्‍वस्‍थ दिमाग का हो और दिवालिया न हो, अकेले या संयुक्‍त रूप से, खाता खोल सकता है।  अवयस्‍क द्वारा यह खाता खोला जा सकता है एवं इसका परिचालन नैसर्गिक अभि‍भावक(natural guardian)  अथवा अवयस्‍क द्वारा स्वयं किया जा सकता है, यदि उसकी आयु 10 वर्ष से अधिक है।  खाता संयुक्‍त रूप से भी खोला जा सकता है।

    व्‍यस्‍क होने के पश्‍चात, खाताधारी को अपने खाते में बकाया शेष की पुष्टि करनी चाहिए एवं यदि खाते का परिचालन नैसर्गिक अभिभावक(natural guardian) द्वारा किया जा रहा है तो व्‍यस्‍क हुए खाताधारी के नए नमूना हस्‍ताक्षर लिए जाने चाहिए एवं नैसर्गिक अभिभावक (natural guardian) से इन हस्‍ताक्षरों का सत्‍यापन करा कर समस्‍त परिचालन उद्देश्‍यों के लिए बैंक के रिकार्ड में रखा जाना चाहिए।
    इस प्रकार के खाते व्‍यक्तिगत (अकेले अथवा संयुक्‍त रूप से ),फर्म,कंपनी निकायों,ट्रस्‍टों,रजिस्‍टर्ड संघ,संयुक्‍त हिंदी परिवार, फर्मों और सरकारी उपक्रमों द्वारा खोले जा सकते हैं।
    जमाकर्ताओं हेतु नामांकन सुविधा उपलब्‍ध है।
    वरिष्‍ठ नागरिक
    वरिष्‍ठ नागरिकों को 91 दिनों एवं उससे अधिक की परिपक्‍वता अवधि की नई जमाओं एवं नवीकरण पर उल्‍लि‍खित दरों के अतिरिक्‍त 0.50 % अधिक ब्‍याज-दर का लाभ दिया जाएगा।
    स्टाफ/ भूतपूर्व स्‍टाफ
   

भूतपूर्व स्‍टाफ सदस्‍य 1% अधिक ब्‍याज प्राप्‍त करने के पात्र हैं, कृपया नोट करें यदि भूतपूर्व स्‍टाफ सदस्‍य वरिष्‍ठ नागरिक भी है तो उसे उपरोक्‍त अनुसार वरिष्‍ठ नागरिकों को प्राप्‍त अतिरिक्‍त ब्‍याज का भी लाभ मिलेगा।
बैंक की विभिन्ना सावधि जमा योजना

1.   सामान्‍य सावधि जमा योजना
   

इस योजना के अंतर्गत कितनी भी राशि 15 दिनों से लेकर 120 महीनों की अवधि तक जमा की जा सकती है और इस पर ब्‍याज की गणना तिमाही आधार पर होगी । न्‍यूनतम अवधि 7 दिन भी स्‍वीकार्य है(शर्तें लागू)

2.   सेविंग विद स्माइल योजना
   

यह एक पुर्ननिवेश जमा योजना है जिसके अंतर्गत चक्रवर्ती ब्‍याज दिया जाता है। ब्‍याज की गणना तिमाही आधार पर चक्रवर्ती ब्‍याज से की जाएगी परंतु भुगतान जमा की परिपक्‍वता पर मूल राशि के साथ किया जाएगा। इस योजना के अंतर्गत कितनी भी राशि न्‍यूनतम 36 महीनों से लेकर 120 महीनों की अवधि तक स्‍वीकार्य है। 

3.   लघु अवधि जमा योजना
   

यह एक पुर्ननिवेश जमा योजना है जिसमें जमाकर्ता लघु अवधि के लिए अपनी जमाएं रख सकता है और चक्रवर्ती ब्‍याज का लाभ ले सकता है। इस योजना के अंतर्गत कितनी भी राशि न्‍यूनतम 6 महीनों से लेकर 120 महीनों की अवधि तक स्‍वीकार्य है। 

4.   केपीटल गेन जमा योजना
    यह एक जमा योजना है जिसके अंर्तगत आयकरदाता केपीटल गेन पर कर छूट का लाभ ले सकता है  यदि केपीटल गेन की राशि या सामान योग्‍य राशि सरकारी क्षेत्र के बैंक में आयकर रिटर्न जमा करने की तिथि से पूर्व जमा करा दें(आयकर अधिनियम 1961 में इससे संबंधित प्रावधान एवं उसमें समय समय पर किए गए संशोधन लागू होंगे)
5   हाड़ी सावनी(रबी खरीफ) जमा योजना
   

 

हाड़ी सावनी(रबी खरीफ) जमा योजना ए‍क अद्वितीय योजना है जो कि पंजाब एण्‍ड सिंध बैंक द्वारा अपने किसान भाईयों के लिए प्रस्‍तुत की गई है। यह योजना विशेष रूप से किसानों के लिए बनाई गई है ताकि वे फसल कटाई के बाद अपनी अतिरिक्ति धन राशि का निवेश कर सकें। इस योजना को लचकदार बनाया गया हे जिसमें कम से कम 1000 रूपये या गुणा राशि की किश्‍तें भी जमा कराई जा सकती है। किश्‍तों को फसलों की कटाई हाड़ी (रबी)/ सावनी(खरीफ) के साथ जोड़ा गया है और प्रत्‍येक वर्ष 30 जून एवं 31 दिसम्‍बर से पूर्व जमा करवाना अपेक्षित है।  

6   पी.एस.बी. मियादी जमा आयकर बचत जमा योजना
   

 

बैक ने आयकर अधिनियम 1961 की धारा 80सी(2) के अंतर्गत‍ आयकर बचाने हेतु मियादी जमा योजना तैयार की है।

    योजना की मुख्‍य विशेषताएं
  1

इस योजना के अंतर्गत किसी व्‍यक्ति अथवा हिंदू संयुक्‍त परिवार द्वारा हमारे बैंक की सावधि जमा योजना में निवेश किया जा सकता है।

  2 खाता अकेले अथवा संयुक्त नाम से खोला जा सकता है।
  3 संयुक्‍त जमा रसीद संयुक्‍त रूप से दो व्‍यस्‍कों या एक वयस्‍क एवं एक अवयस्‍क को जारी की जा सकती है एवं राशि खाताधारियों में से एक को अथवा उत्‍त्‍रजीवी को देय होगी।
  4 संयुक्‍त नाम से खाता होने पर आयकर अधिनियम की धारा 80 सी का लाभ केवल पहले खाताधारी को ही मिलेगा।
  5 इस सावधि जमा योजना एवं अन्‍य जमा योजनाओं में निवेश की सीमा,धारा 80 सी के अंतर्गत आयकर लाभ के लिए रू0 एक लाख तक ही सीमित होगी।
  6 इस योजना में निवेश की निम्‍नतम राशि रू. 100/- अथवा इसके गुणात्मक होगी।
  7

इस योजना के अंतर्गत बनाई गई सावधि जमा रसीद  को किसी अन्‍य एजेन्‍सी के पास गिरवी नहीं रखा जा सकेगा एवं किसी उद्देश्‍य के लिए भी इसे प्रतिभूति के रूप में प्रस्‍तुत नहीं किया जा सकेगा।

  8 इस प्रकार की सावधि जमा में निश्चित अवरूद्वता अवधि 5 वर्ष की होगी एवं 5 वर्ष से पूर्व इसे भुनाया नहीं जा सकेगा।
  9 इन सावधि जमाओं पर ब्‍याज, उपचय पर या रसीद आधार पर, आयकर के दायरे में आएगा जो कि निवेशक द्वारा अपनाई गई लेखा पद्धति पर निर्भर है।
  10 इस योजना में नामांकन सुविधा उपलब्‍ध है जिसे राशि जमा करते समय अथवा परिपक्‍वता से पूर्व कभी भी प्रभावी किया जा सकता है।
  11 सावधि जमा, के जमाकर्ता की मृत्‍यु होने की स्थिति में,जिसमें नामांकन प्रभावी है, नामिति को परिपक्‍वता से पूर्व अथवा बाद में किसी भी समय नकदीकरण की पात्रता है। परिपक्‍वता पूर्व भुगतान की स्थिति में ब्‍याज का भुगतान, साधारण सावधि जमा की दर पर वास्‍तविक अवधि ,जितनी अवधि के लिए सावधि जमा रखी गई थी,पर बिना किसी दण्‍ड के आधार पर किया जाएगा।
  12 खाताधारी /खाताधारियों के अनुरोध पर सावधि जमा को बैक की एक शाखा से अन्‍य शाखा में स्‍थानांतरित किया जा सकेगा।
  13

सावधि जमा रसीद के खोने, चोरी होने, नष्‍ट होने, फट जाने अथवा खराब हो जाने की स्थिति में ,पात्र व्‍यक्ति डुप्लिकेट रसीद के लिए आवेदन कर सकता है।  ऐसे प्रत्‍येक आवेदन के साथ एक विवरणी, जिसमें संख्‍या ,राशि और रसीद की दिनांक और परिस्थितियां जैसे रसीद खोई, चोरी ,नष्‍ट, फट गई अथवा खराब हो गई ,का ब्‍यौरा संलग्‍न होना चाहिए।  बैंक कारणों से संतुष्‍ट होने पर, एक अथवा दो गारंटीकर्ता के साथ या बैक गारंटी के साथ निर्धारित फार्म पर क्षतिपूर्ति बाण्‍ड लेकर डुप्‍लीकेट रसीद जारी कर देगा।
बशर्ते कि यदि खोए गए, चोरी,नष्‍ट ,फटे अथवा खराब हुए प्रमाण पत्र/ पत्रों का कुल अंकि‍त मूल्‍य रु. 500/- अथवा उससे कम है तो निर्धारित फार्म पर मात्र क्षतिपूर्ति बाण्‍ड प्रस्‍तुत करने पर ही डुप्‍लीकेट रसीद जारी की जा सकती हैं इसके लिए कोई अतिरिक्‍त गारंटी नहीं चाहिए। 

इसके अतिरिक्‍त यदि आवेदन, रसीद खराब होने या फट जाने की स्थिति में, डुप्‍लीकेट रसीद बिना क्षतिपूर्ति बाण्‍ड अथवा गारंटी के जारी की जा सकती है बशर्ते कि खराब हुई या फटी हुई रसीद प्रस्‍तुत की जाए एवं इस पर अंकित मूल्‍य स्‍पष्‍ट हो और यह पहचान हो सके कि वह मूल रसीद ही है। कृपया नोट करें कि जारी की गई डुप्‍लीकेट रसीद उद्देश्‍यों के लिए मूल रसीद के बराबर मानी जाएगी सिवाय इसके कि इसका भुगतान जारीकर्ता शाखा के अलावा अन्‍य किसी शाखा में नहीं हो सकेगा।
  14 ब्‍याज दर हेतु यहां क्लिक करें  
  15 इस योजना से संबंधित शर्तों, ब्‍याज एवं अन्‍य लाभों में बदलाव की सूचना विशेष तौर पर एवं अलग से समय- समय पर दी जाती रहेगी। अन्‍य शर्तें लागू रहेंगी इस योजना के संबंध में स्‍पष्‍टीकरण हेतु कृपया हमारी नि‍कटतम शाखा से संपर्क करें।