भारत और विदेश में उच्च शिक्षा के लिए मॉडल शिक्षा ऋण योजना

शिक्षा ऋण योजना

पात्रता

क) भारत में अध्ययन: (सांकेतिक सूची)

  • यूजीसी/सरकार/एआईसीटीई/एआईबीएमएस / आईसीएमआर आदि द्वारा मान्यता प्राप्त कॉलेजों/विश्वविद्यालयों द्वारा स्‍नातक/ स्नातकोत्तर डिग्री और पीजी डिप्लोमा करवाने के अनुमोदित कोर्स।
  • आईसीडब्ल्यूए,सीए,सीएफए आदि जैसे कोर्स।
  • आईआईएम,आईआईटी,आईआईएससी,एक्सएलआरआई, एनआईएफटी, एनआईडी आदि द्वारा आयोजित कोर्स।
  • यदि कोर्स भारत में चलाया जाता है तो नागर विमानन/शिपिंग/ भारतीय नर्सिंग काऊंसिल या किसी अन्य नियामक संस्था के महानिदेशक द्वारा अनुमोदित जैसे वैमानिकी ,पायलट प्रशिक्षण , शिपिंग , नर्सिंग या किसी अन्‍य नियामक बोर्ड द्वारा अनुमोदित नियमित डिग्री/ डिप्लोमा कोर्स।
  • प्रतिष्ठित विदेशी विश्वविद्यालयों द्वारा भारत में प्रस्‍तुत अनुमोदित कोर्स ।

नोट : उपरोक्त सूची संकेतक मात्र है। प्रतिष्ठित संस्थाओं द्वारा उपरोक्‍त के अतिरिक्‍त प्रस्‍तुत अन्य कोर्स भी रोजगार के आधार पर मान्‍य है। .

(ख) विदेश में अध्ययन: -

  • स्नातक : प्रतिष्ठित विश्वविद्यालयों द्वारा प्रस्‍तुत नौकरी उन्मुख व्यावसायिक/तकनीकी कोर्सों के लिए।
  • स्नातकोत्तर : एमसीए , एमबीए , एमएस , आदि
  • सीआईएमए- लंदन , संयुक्त राज्य अमरीका में सीपीए आदि द्वारा आयोजित कोर्स।
  • वैमानिकी , पायलट प्रशिक्षण, शिपिंग आदि में डिग्री / डिप्लोमा कोर्स बशर्तें ये भारत/ विदेश में रोजगार के प्रयोजन के लिए भारत/विदेश के सक्षम नियामक निकायों द्वारा मान्यता प्राप्त हो।
नोट : डिप्लोमा कोर्स और सर्टिफिकेट कोर्स, योजना के लिए पात्र कोर्सों में शामिल नहीं है। केवल प्रतिष्ठित संस्थानों/ विश्वविद्यालयों द्वारा प्रस्‍तुत स्नातकोत्तर अध्ययन जिससे पीजी डिग्री और पीजी डिप्लोमा प्रस्‍तुत है ,को योजना में कवर किया जाएगा। रोजगार की संभावना या भविष्य की संभावनाओं का आकलन बहुत महत्वपूर्ण हैं जिसमें उच्च लागत पर अध्ययन की कसौटी भी शामिल है।


वित्‍त की मात्रा

 

भारत में अध्ययन: अधिकतम रु.10 लाख तक
विदेश में अध्ययन: अधिकतम रु.20 लाख तक
नोट: पाठ्यक्रम के आधार पर ऋण की उच्च मात्रा पर भी विचार किया जा सकता है (जैसे: आईआईएम, आईएसबी आदि में कोर्स)

 

मार्जिन

  •  

  • रू.4लाख तक         : शून्य
    रु.4 लाख से अधिक : भारत में अध्ययन हेतु 5%
     : विदेश में अध्ययन हेतु 15%
    नोट: यदि ऋण शिक्षा ऋण के क्रेडिट गारंटी फंड स्कीम (CGFSEL) के लिए पात्र है तो

    रु 7.5 लाख तक के ऋण पर , मार्जिन, 'शून्य' हो जाएगा।

ब्‍याज दर

 

ब्‍याज-दर हेतु कृपया यहां क्लिक करें

 

 

प्रक्रिया शुल्‍क

 

प्रोसेसिंग फीस के लिए यहां क्लिक करें 

 

प्रतिभूति

 

रू.4लाख तक         : कोई प्रतिभूति नहीं(माता-पिता संयुक्‍त उधारकर्ता होंगे)
रु.4 लाख से अधिक रु.7.5 लाख तक
i) माता-पिता संयुक्त उधारकर्ता होंगे
ii) तीसरे पक्ष की गारंटी के रूप में कोलेटरल सिक्योरिटी
नोट: यदि ऋण शिक्षा ऋण के क्रेडिट गारंटी फंड स्कीम (CGFSEL) के लिए पात्र है तो

 तीसरे पक्ष की गारंटी की आवश्‍यकता नहीं है।
रु. 7.5 लाख से अधिक
i) माता-पिता संयुक्त उधारकर्ता होंगे
ii) बैंक को स्वीकार्य उपयुक्त मूल्य की मूर्त संपार्श्विक प्रतिभूति के साथ-साथ किश्तों के भुगतान के लिए छात्रों की भविष्य की आय।

 

अधिस्थगन अवधि

 

कोर्स अवधि + 1 वर्ष 

 

 

पुनर्भुगतान की अवधि

 

 

सभी श्रेणियों के लिए ऋण की अदायगी, बराबर मासिक किस्तों में अधिकतम  15 वर्ष की अवधि में की जाएगी।

 

 

पूर्वभुगतान

 

ॠण का भुगतान शुरु होने के बाद किसी भी समय पूर्वभुगतान करने पर कोई दण्‍ड प्रभार नहीं लगेगा।